लेटेस्ट

हिंदी साहित्यकार मे अपनी अनोखी जगह बनाने वाली कृष्णा सोबती का हुआ निधन

हिंदी साहित्यकार मे अपनी अनोखी जगह बनाने वाली कृष्णा सोबती का हुआ निधन

यहाँ जाने कृष्णा सोबती से जुड़ी यह कुछ अहम बातें !


हिंदी साहित्यकार में अपनी ख़ास जगह बनाने वाली  कृष्णा सोबती का 94 साल में निधन हो गया है. उनके निधन से आज पूरे साहित्य जगत में शोक की लहर आ चुकी है. उनके परिवार ने बताया की कुछ दिनों से उनकी तबीयत ठीक नहीं जिसके चलते उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था और आज सुबह ही  उन्होंने अस्पताल में अंतिम साँस ली.

krishna sobti

जाने कृष्णा सोबती से जुड़ी यह कुछ अहम बातें:

कृष्णा सोबती का जन्म  18 फरवरी 1925 को गुजरात में  हुआ था.उपन्यास और कहानी विधा में उन्होंने जमकर लेखन किया. उन्होंने पचास के दशक से लेखन कार्य शुरू किया और उनकी पहली कहानी ‘लामा’ 1950 में आई साथ ही उनकी प्रमुख कृतियों में डार से बिछुड़ी, मित्रो मरजानी, यारों के यार तिन पहाड़, सूरजमुखी अंधेरे के, सोबती एक सोहबत, जिंदगीनामा, ऐ लड़की, समय सरगम, जैनी मेहरबान सिंह जैसे उपन्यास शामिल हैं. बादलों के घेरे नामका उनके द्वारा लिखी गई फिक्शन कहानी काफी मशहूर रही है.

जाने कृष्णा सोबती को किन-किन पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है ?

कृष्णा सोबती को कई सारे पुरस्कारों से सम्मानित किया जा चूका है. इनमें साहित्‍य अकादमी सम्मान, साहित्य शिरोमणि सम्मान, शलाका सम्मान, मैथिली शरण गुप्त पुरस्कार, साहित्य कला परिषद पुरस्कार, कथा चूड़ामणि पुरस्कार शामिल है. उन्हें साल 2017 का ज्ञानपीठ पुरस्कार से भी नवाज़ा जा चूका है.

यहाँ भी पढ़े :National Tourism Day 2019 : जाने क्यों मनाया जाता है टूरिज्म डे?

यह बात सच है की कृष्णा सोबती ने देश के बॅटवारे से लेकर देश को आज़ाद होने तक और भारत के संविधान तक को बनते हुए देखा है. वह तीन पीढ़ियों की ख़ास गवाह रही  हैं जो उनके हर उपन्यास और कहानियों में शुरू से ही  झलकता आया है। उनके द्वारा लिखे गए सभी लेखन हमेशा वक्त से आगे रहा है।आज भले कृष्णा साबित हमारे बीच  नहीं रही है लेकिन हिंदी साहित्य जगत में  उनके उपन्यासो और कहाँनीयो द्वारा वो हमेशा  हम सबके दिलो में ज़िंदा रहेंगी.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Click to add a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in लेटेस्ट

Bengaluru : Royal Challengers Bangalore celebrate fall of a wicket during an IPL-2015 match between Royal Challengers Bangalore and Kings XI Punjab at M. Chinnaswamy Stadium in Bengaluru on May 6, 2015. (Photo: IANS)

Dhoni vs Kohli : आईपीएल सीजन 12 का हुआ आज से आगाज़

Neha Singh23/03/2019
bjp

बीजेपी ने जारी की चुनावी उम्मीदवारो की लिस्ट

Neha Singh23/03/2019
rejection

इन बेहतरीन एक्टर्स को भी करना पड़ा था रिजेक्शन का सामना

Neha Singh22/03/2019
exam-centre

लोकसभा चुनाव के चलते इन परीक्षाओं कि बदली गई तारीख

Neha Singh21/03/2019
मोजाम्बिक

जिम्बाब्वे में चली भयानक हवा तो मोजाम्बिक में आया समुद्री तूफान

Neha Singh20/03/2019
holi

Holi 2019 : इस तरह बनाए अपनी होली को यादगार

Neha Singh20/03/2019
होलिका दहन

होली 2019 : यहाँ जाने होली की पूजा का सही मुहूर्त और विधि के बारे में

Neha Singh19/03/2019
yogi-adityanath

लोकसभा चुनाव से पहले योगी सरकार ने किये अपने 2 साल पूरे

Neha Singh19/03/2019
trekking

अगर आप कर रहे है समर वकेशंस में ट्रैकिंग करने का प्लान, तो यह जगहे है बेस्ट

Neha Singh17/03/2019