विश्व ब्रेल दिवस

दुनिया भर में 4 दिसंबर का दिन दृष्टिहीनों के लिए नई रोशनी लाने वाले लुई ब्रेल के नाम पर ब्रेल दिवस के रूप में मनाया जाता है। लुई ब्रेल केवल 3 वर्ष की उम्र में एक दुर्घटना की वजह से अपनी आँखें खो चुके थे। लेकिन उन्होंने नियति से हार नहीं मानी। उन्होंने न केवल अपने लिए, बल्कि दुनिया भर के दृष्टिहीनों की सहायता के लिए उभार, बिन्दुओं और संकेतों से बनी ब्रेल लिपि का आविष्कार किया।

अब इस क्षेत्र में और भी प्रगति हो चुकी है। लेकिन इनका सूत्रपात ब्रेल ने किया था। उनके इस अत्यंत महत्वपूर्ण मानवीय उपलब्धि को रेखांकित तथा सम्मानित करने के लिए हर साल यह दिन मनाया जाता है। दृष्टिहीनों के लिए काम करने वाले एनजीओ इस दिवस पर कई कार्यक्रम आयोजित करते हैं।

Do NOT follow this link or you will be banned from the site!